NCERT Solutions Class 7 Science Chapter 4 Heat | ऊष्मा

NCERT SOLUTIONS FOR CLASS 7 SCIENCE Chapter 4

पाठ – 4
ऊष्मा
विज्ञान

Our today topic in free Ncert Solutions is Class 7 science Chapter 4 Heat (ऊष्मा). Here We learn what is in this chapter ऊष्मा and how to solve questions एनसीइआरटी कक्षा 7 विज्ञान पाठ 4 ऊष्मा के प्रश्न उत्तर सम्मिलित है।

NCERT Solutions for Class 7 science Chapter 4 ऊष्मा (Ushma) are part of NCERT Solutions for Class 7 science. Here we have given NCERT Solutions for Class 7 vigyaan paath 4 Ushma.
Here we solve ncert class 7 Science chapter 4 Heat ऊष्मा concepts all questions with easy method with expert solutions. It help students in their study, home work and preparing for exam. Soon we provide NCERT class 7 science chapter 4 Ushma question and answers. NCERT Solutions Class 7 vigyaan Chapter 4 Ushma ऊष्मा in free PDF here.

NCERT Solutions Class 7 Chapter 4 Heat | ऊष्मा अभ्यास प्रश्न

1. प्रयोगशाला तापमापी तथा डॉक्टरी थर्मामीटर के बीच समानताएँ तथा अंतर लिखिए।
उत्तर – प्रयोगशाला तापमापी तथा डॉक्टरी थर्मामीटर के बीच समानताएँ –
(i) दोनों ही थर्मामीटर से तापमान को मापा जाता है।
(ii) प्रयोगशाला तापमापी तथा डॉक्टरी थर्मामीटर दोनों में ही पारा द्रव के रूप में नाली में भरा होता है।
(iii) दोनों प्रकार के तापमापी में तापमान को डिग्री सेल्सियस में मापा जाता है।

प्रयोगशाला तापमापी तथा डॉक्टरी थर्मामीटर में अंतर –

प्रयोगशाला तापमापी डॉक्टरी थर्मामीटर 
(i) जिस तापमापी से वस्तुओं या पदार्थों का तप मापा जाता है, उसे प्रयोगशाला तापमापी कहते है। (i) जिस तापमापी से हम अपने शरीर का तप मापते है, उसे डॉक्टरी थर्मामीटर कहते हैं। 
(ii) प्रयोगशाला तापमापी की परास 10°C से 110°C तक होती है। (ii) इस थर्मामीटर की परास 35°C से 42°C तक होती है।
(iii) प्रयोगशाला तापमापी में वस्तुओं या पदार्थों अधिकतम व न्यूनतम दोनों मानों को मापा जा सकता है। (iii) डॉक्टरी तापमापी में केवल ादजिकतम तप को मापा जाता है।

2. ऊष्मा चालक तथा ऊष्मा-रोधी, प्रत्येक के दो उदाहरण दीजिए।
उत्तर –
ऊष्मा चालक : जो पदार्थ अपने से होकर ऊष्मा को आसानी से जाने देते हैं उन्हें ऊष्मा का चालक कहते हैं।
ऊष्मा चालक के उदाहरण – ऐल्युमिनियम, आयरन (लोहा) तथा कॉपर (ताँबा)

ऊष्मा-रोधी : जो पदार्थ अपने से होकर ऊष्मा को आसानी से नहीं जाने देते, उन्हें ऊष्मा-रोधी या ऊष्मा का कुचालक कहते है।
ऊष्मा-रोधी पदार्थ के उदाहरण – जल, वायु, लकड़ी आदि।

3. रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए :
(क) कोई वस्तु कितनी गर्म है इसकी जानकारी ताप द्वारा प्राप्त होती है।
(ख) उबलते हुए पानी का ताप डॉक्टरी तापमापी से नहीं मापा जा सकता।
(ग) ताप को डिग्री सेल्सियस में मापते हैं। 
(घ) बिना किसी माध्यम द्वारा स्थानांतरण के प्रक्रम को विकिरण कहते हैं।
(च) स्टील की एक ठंडी चम्मच गर्म दूध के प्याले में राखी गई है। यह अपने दूसरे सिरे तक ऊष्मा का स्थानांतरण चालन प्रक्रम द्वारा करेगी।
(छ) हल्के रंग के वस्त्रों की अपेक्षा गहरे रंग के वस्त्र ऊष्मा का अधिक अवशोषण करते है।

4. कॉलम A में दिए कथनों का कॉलम B के शब्दों से मिलान कीजिए –

कॉलम A कॉलम B
(क) थल समीर के बहने का समय   (i) गर्मियाँ
(ख) समुद्र समीर के बहने का समय  (ii) सर्दियाँ 
(ग) गहरे रंग के कपड़े पसन्द करने का समय  (iii) दिन 
(घ) हल्के रंग के कपड़े पसन्द करने का समय  (iv) रात 

उत्तर –

कॉलम A कॉलम B
(क) थल समीर के बहने का समय   (iv) रात
(ख) समुद्र समीर के बहने का समय  (iii) दिन
(ग) गहरे रंग के कपड़े पसन्द करने का समय  (ii) सर्दियाँ 
(घ) हल्के रंग के कपड़े पसन्द करने का समय  (i) गर्मियाँ

5. सर्दियों में एक मोटा वस्त्र पहनने के तुलना में उसी मोटाई का कई परतों का बना वस्त्र अधिक उष्णता क्यों प्रदान करता है ? व्याख्या कीजिए।
उत्तर – ऊन के रेशों के बीच में वायु फंसी रहती है। यह वायु हमारे शरीर की ऊष्मा को ठंडे परिवेश की ओर विकिरित होने से रोकती है। अतः हमें उष्णता का अनुभव होता है।
इसी प्रकार कई परतों का बना वस्त्र अधिक उष्णता प्रदान करता है क्योंकि उनकी परतों के मध्य में वायु की एक परत विद्यमान रहती है।

6. चित्र 4.13 को देखिए। अंकित कीजिए कि कहाँ-कहाँ चालन, संवहन तथा विकिरण द्वारा ऊष्मा स्थानांतरित हो रही है।
उत्तर –   

NCERT Solution Class 7 Science Chapter 4 Heat Que
                  चित्र 4.13

उत्तर –
NCERT Solution Class 7 Science Chapter 4 Heat Ans

7. गरम जलवायु के स्थानों पर यह परामर्श दिया जाता है कि घरों की बाहरी दीवारों पर श्वेत (सफ़ेद) पेन्ट किया जाए। व्याख्या कीजिए।
उत्तर – हल्के रंग की वस्तुएँ गहरे रंग की वस्तुओं की तुलना में अपेक्षाकृत कम उष्मीय विकिरणों को अवशोषित करती है। अतः यही कारण है कि गरम जलवायु के स्थानों पर घरों की बाहरी दीवारों पर श्वेत (सफ़ेद) पेन्ट किया जाता है ताकि सफ़ेद पेन्ट उष्मीय विकिरणों को कम से कम अवशोषित करें और घरों का तापमान सामान्य बना रहे।

8. 30 °C के एक लीटर जल को 50 °C के एक लीटर जल के साथ मिलता गया। मिश्रण का ताप होगा –
(क) 80 °C
(ख) 50 °C से अधिक लेकिन 80 °C से कम 
(ग) 20 °C 
(घ) 30 °C तथा 50 °C के बीच
उत्तर – (घ) 30 °C तथा 50 °C के बीच

9. 40 °C ताप की लोहे की किसी गोली को कटोरी में भरे 40 °C ताप के जल में डुबोया गया। इस प्रक्रिया में ऊष्मा –
(क) लोहे की गोली से जल की ओर स्थानांतरित होगी।
(ख) न तो लोहे की गोली से जल की ओर और न ही जल से लोहे की गोली की ओर स्थानांतरित होगी।
(ग) जल से लोहे की गोली की ओर स्थानांतरित होगी।
(घ) दोनों के ताप में वृद्धि कर देगी।
उत्तर – (ख) न तो लोहे की गोली से जल की ओर और न ही जल से लोहे की गोली की ओर स्थानांतरित होगी।

10. लकड़ी की एक चम्मच कको आइसक्रीम के प्याले में डुबोया गया है। इसका दूसरा सिरा –
(क) चालन के कारण ठंडा हो जाएगा।
(ख) संवहन के कारण ठंडा हो जाएगा।
(ग) विकिरण के कारण ठंडा हो जाएगा।
(घ) ठंडा नहीं होगा।
उत्तर – (क) चालन के कारण ठंडा हो जाएगा।

11. स्टेनलेस इस्पात की कड़ाही में प्राय: कॉपर (ताँबे) की ताली लगाई जाती है। इसका कारण हो सकता है –
(क) ताँबे की तली कड़ाही को अधिक टिकाऊ बना देती है।
(ख) ऐसी कड़ाही देखने में सूंदर लगती है।
(ग) स्टेनलेस इस्पात की अपेक्षा ताँबा ऊष्मा का अच्छा चालक है।
(घ) स्टेनलेस इस्पात की अपेक्षा ताँबे को साफ करना अधिक आसान है।
उत्तर – (ग) स्टेनलेस इस्पात की अपेक्षा ताँबा ऊष्मा का अच्छा चालक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!