NCERT Solutions for Class 6 Chapter 7 Know The Plants | पौधों को जानिए

Our today topic in free Ncert Solutions is Class 6 science Chapter 7 Know The Plants (पौधों को जानिए). Here We learn what is in this chapter पौधों को जानिए and how to solve questions एनसीइआरटी कक्षा 6 विज्ञान पाठ 7 पौधों को जानिए के प्रश्न उत्तर सम्मिलित है।

NCERT Solutions for Class 6 science Chapter 7 पौधों को जानिए (Podhon ko Janiye) are part of NCERT Solutions for Class 6 science. Here we have given NCERT Solutions for Class 6 vigyaan paath 7 Podhon ko Janiye.

Here we solve ncert class 6 Science chapter 7 Know The Plants पौधों को जानिए concepts all questions with easy method with expert solutions. It help students in their study, home work and preparing for exam. Soon we provide NCERT class 6 science chapter 7 Podhon ko Janiye question and answers. NCERT Solutions Class 6 vigyaan Chapter 7 Podhon ko Janiye पौधों को जानिए in free PDF here.

NCERT SOLUTIONS FOR CLASS 6 SCIENCE Chapter 7

पाठ – 7
पौधों को जानिए
विज्ञान

NCERT Solutions Class 6 Chapter 7 Know The Plants | पौधों को जानिए अभ्यास प्रश्न

1. निम्न कथनों को ठीक करके लिखिए :
(क) तना मिट्टी से जल एवं खनिज अवशोषित करता है।
(ख) पत्तियाँ पौधे को सीधा खड़ा रखती हैं।
(ग) जड़ें जल को पत्तियों तक पहुँचती हैं।
(घ) पुष्प में पुंकेसरों एवं पंखुड़ियों की संख्या सदा समान होती है।
(ड) यदि किसी पुष्प के बाह्यदल परस्पर जुड़े हों तो उसकी पंखुड़ियाँ भी आपस में जुडी होंगी।
(च) यदि किसी पुष्प की पंखुड़ियाँ परस्पर जुडी हों तो स्त्रीकेसर पंखुड़ियों से जुड़ा होगा। 
उत्तर – 
(क) जड़ें मिट्टी से जल एवं खनिज अवशोषित करता है।
(ख) तना पौधे को सीधा खड़ा रखती हैं।
(ग) तना जल को पत्तियों तक पहुँचती हैं।
(घ) पुष्प में बाह्यदल एवं पंखुड़ियों की संख्या सदा समान नहीं होती है।
(ड) यदि किसी पुष्प के बाह्यदल परस्पर जुड़े हों तो उसकी पंखुड़ियाँ आपस में जुडी नही होंगी।
(च) यदि किसी पुष्प की पंखुड़ियाँ परस्पर जुडी हों तो स्त्रीकेसर पंखुड़ियों से कभी जुड़ा हो भी सकता है और नही भी। 

2. निम्न के चित्र बनाइए :
(क) पत्ती     (ख) मुसला जड़     (ग) एक पुष्प जिसका आपने सारणी 7.3 में अध्ययन किया हो।
हल :

3. क्या आप अपने घर के आस-पास ऐसे पौधे को जानते है जिनका तना लंबा परन्तु दुर्बल हो ? इसका नाम लिखिए। आप इसे किस वर्ग में रखेंगे ?
उत्तर – हाँ। हमारे आस-पास कई ऐसे पौधे है जिनके तने लम्बे तो होते है परन्तु बहुत ही दुर्बल होते है। उन्ही में से एक लौकी का पौधा है। इसका तना काफी लंबा होता है परन्तु ये इतना दुर्बल होता है कि ये खड़ा नही रह सकता। अतः यह भूमि पर ही बढ़ता रहता है। इस प्रकार के पौधों को हम विसर्पी लता वर्ग में रखेंगे।

4. पौधे में तने के क्या कार्य है ?
उत्तर – पौधे में तने के कार्य : पौधे में तने के कार्य निम्न है –
(i) तना पौधे को सीधा खड़ा रखने महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
(ii) तना जल को पत्तियों तक पहुँचाने का कार्य करता है।
(iii) तना जड़ से विभिन्न प्रकार के खनिज लवण व पोषक तत्वों को पौधे के विभिन्न भागों जैसे पत्तियाँ आदि में पहुँचाने का कार्य करता है।

5. निम्न में से किन पत्तियों में जालिका रूपी शिरा-विन्यास पाया जाता है ?
गेहूँ, तुलसी, मक्का, घास, धनिया, गुड़हल
उत्तर – तुलसी, घास, और गुड़हल में जालिका रूपी शिरा-विन्यास पाया जाता है।

6. यदि किसी पौधे की जड़ रेशेदार हो तो उसकी पत्ती का शिरा-विन्यास किस प्रकार का होगा ?
उत्तर – यदि किसी पौधे की जड़ रेशेदार हो तो उसकी पत्ती का समान्तर शिरा-विन्यास होगा।

7. यदि किसी पौधे की पत्ती में जालिका रूपी शिरा-विन्यास हो तो जड़ें किस प्रकार की होंगी ?
उत्तर – यदि किसी पौधे की पत्ती में जालिका रूपी शिरा-विन्यास हो तो जड़ें मूसला मूल प्रकार की होंगी।

8. क्या आप किसी पौधे की पत्ती की छाप को देखकर यह पहचान कर सकते हैं कि उसकी जड़ मूसला जड़ होगी अथवा झड़का जड़ ? कैसे ?
उत्तर – हाँ, हम पत्ती कि छाप देखकर बता सकते है कि उसकी जड़ मूसला जड़ होगी अथवा झड़का जड़।

  • यदि पत्ती कि छाप में मध्य में एक मोटी शिरा हो, जिसे मध्य शिरा कहते है तथा इस शिरा के दोनों ओर जाल जैसी संरचना होगी तो, इस प्रकार के शिरा विन्यास को जालिका रूपी शिरा विन्यास कहते है। इस प्रकार के शिरा विन्यास के पौधे की जड़ें मूसला मूल प्रकार की होगी।
  • यदि पत्ती की छाप में शिलाएँ एक-दूसरे के समान्तर हो तो, इस प्रकार का शिरा विन्यास समान्तर शिरा विन्यास होगा तथा इस प्रकार के पौधे में जड़ें रेशेदार प्रकार की होंगी।

9. पुष्प के विभिन्न भागों के नाम लिखिए।
उत्तर – पुष्प के विभिन्न भागों के नाम निम्न हैं –
(i) सबसे बहरी भाग – बाह्यदल 
(ii) बाह्यदल के अंदर की और स्थित – दलपुंज या जिसे पंखुड़ियाँ कहते है।
(iii) पौधे का नर जननांग – पुंकेसर 
(iv) पौधे का मादा जननांग – स्त्रीकेसर 
(v) नर जननांग का भाग – परागकोश

10. निम्न में से किन पौधों में फूल होते हैं ?
घास, मक्का, गेहूँ, मिर्च, टमाटर, पीपल, शीशम, बरगद, जामुन, अमरुद, अनार, पपीता, केला, नींबू, गणना, आलू, मूँगफली।
उत्तर – मिर्च, टमाटर, आम, अमरूद, अनार और नींबू के पौधे के फूल होते हैं।

11. पौधों के उस भाग का नाम लिखिए जो अपना भोजन बनाता है। इस प्रक्रम को क्या कहते है ?
उत्तर – पौधों की हरी पत्तियाँ सूर्य के प्रकाश की उपस्थिति में अपना भोजन बनती है, इस प्रक्रम को प्रकाश संश्लेषण कहते है।

12. पुष्प के किस भाग में अंडाशय मिलता है ?
उत्तर – पुष्प के स्त्रीकेसर वाले भाग में अंडाशय मिलता है।

13. ऐसे दो पुष्पों के नाम लिखिए जिनमें से प्रत्येक में संयुक्त और अलग-अलग बाह्यदल हों।
उत्तर – धतूरे का पुष्प ऐसा पुष्प है जिसमे बाह्यदल और पंखुड़ियाँ संयुक्त होती है।
गुलाब के पौधे के पुष्प में बाह्यदल और पंखुड़ियाँ अलग-अलग होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!