NCERT Solutions Class 6 Chapter 6 The changes around us | हमारे चारों ओर के परिवर्तन

NCERT SOLUTIONS FOR CLASS 6 SCIENCE Chapter 6

पाठ – 6
हमारे चारों ओर के परिवर्तन
विज्ञान

Our today topic in free Ncert Solutions is Class 6 science Chapter 6 The changes around us (हमारे चारों ओर के परिवर्तन). Here We learn what is in this chapter हमारे चारों ओर के परिवर्तन and how to solve questions एनसीइआरटी कक्षा 6 विज्ञान पाठ 6 हमारे चारों ओर के परिवर्तन के प्रश्न उत्तर सम्मिलित है।

NCERT Solutions for Class 6 science Chapter 6 हमारे चारों ओर के परिवर्तन (Hamaare Charon aur ke parivartan) are part of NCERT Solutions for Class 6 science. Here we have given NCERT Solutions for Class 6 vigyaan paath 6 Hamaare Charon aur ke parivartan.
Here we solve ncert class 6 Science chapter 6 The changes around us हमारे चारों ओर के परिवर्तन concepts all questions with easy method with expert solutions. It help students in their study, home work and preparing for exam. Soon we provide NCERT class 6 science chapter 6 Hamaare Charon aur ke parivartan question and answers. NCERT Solutions Class 6 vigyaan Chapter 6 Hamaare Charon aur ke parivartan हमारे चारों ओर के परिवर्तन in free PDF here.

NCERT Solutions Class 6 Chapter 6 The changes around us | हमारे चारों ओर के परिवर्तन अभ्यास प्रश्न

1. जब हम जलमग्न इलाके में घूमते है तो अपनी पोशाक को मोड़कर उसकी लंबाई कम कर लेते हैं। क्या इस परिवर्तन को उत्क्रमित किया जा सकता है ?
उत्तर – हाँ, इस परिवर्तन को उत्क्रमित किया जा सकता है। क्योंकि जब हम पोशाक को हाथों मोड़ते है तो वह छोटा हो जाता है। जब हम हाथोंपोशाक को वापस छोड़ देते है तो वह अपनी प्रारम्भिक अवस्था में आ जाता है। अतः कहा जा सकता है कि यह एक उत्क्रमित प्रक्रिया है।

2. अकस्मात आपका प्रिय खिलौना गिरकर टूट गया हैं। आप कतई इस परिवर्तन को नहीं चाहते थे ? क्या यह परिवर्तन उत्क्रमित किया जा सकता है ?
उत्तर – नहीं, यह उत्क्रमित परिवर्तन नहीं होगा। क्योंकि एक बार खिलौना टूट जाने के बाद उसे पुनः अपनी प्रारम्भिक अवस्था में नहीं लाया जा सकता है।

3. नीचे दी गई सारणी में कुछ परिवर्तन दिए गए हैं। प्रत्येक परिवर्तन के सामने रिक्त स्थान में लिखिए कि वह परिवर्तन उत्क्रमित किया जा सकता है अथवा नहीं ?

क्रम संख्या परिवर्तन उत्क्रमित किया जा सकता है (हाँ/नहीं)
1. लकड़ी के टुकड़े चीरना   
2. आइसक्रीम का पिघलना   
3. चीनी का जल में घुलना   
4. खाना पकाना   
5. आम का पकाना   
6. दूध का दही में जमना   

उत्तर –

क्रम संख्या परिवर्तन उत्क्रमित किया जा सकता है (हाँ/नहीं)
1. लकड़ी के टुकड़े चीरना  नहीं 
2. आइसक्रीम का पिघलना  हाँ 
3. चीनी का जल में घुलना  हाँ 
4. खाना पकाना  नहीं 
5. आम का पकाना  नहीं 
6. दूध का दही में जमना  नहीं 

4. चित्रकारी करने पर ड्राइंग शीट में परिवर्तन हो जाता है। क्या आप इस परिवर्तन को उत्क्रमित कर सकते हैं ?
उत्तर – नहीं। चित्रकारी करने पर ड्राइंग शीट में परिवर्तन हो जाता है। यह एक अनुत्क्रमणीय परिवर्तन है। अर्थात इस परिवर्तन को उत्क्रमित नहीं किया जा सकता है।

5. उदाहरण देकर उत्क्रमित किए जाने वाले तथा उत्क्रमित न किए जाने वाले परिवर्तनों में अंतर स्पष्ट कीजिए।
उत्तर – नीचे दी गई तालिका में उत्क्रमित किए जाने वाले तथा उत्क्रमित न किए जाने वाले परिवर्तनों में अंतर दिए गए है –

उत्क्रमित किए जाने वाले उत्क्रमित न किए जाने वाले
ऊन के धागे से बना हुआ स्वेटर  कच्चे अंडे से उबला हुआ अंडा 
ठंडे दूध से गर्म दूध  गाढ़े घोल से इडली 
गीले कपड़े से सूखे कपड़े  अनाज से बनाया गया आटा
सीधी डोरी से कुंडलित डोरी  दूध से पनीर 
खींचे रबड़ बैंड से सामान्य साइज़ का रबड़ बैंड  गाय के गोबर से बायोगैस 
जमी हुई आइसक्रीम से पिघली हुई आइसक्रीम  कली से फूल 
पानी से बर्फ का जमना  खाने का पकाने

6. टूटी हुई हड्डी पर बंधी पट्टी के ऊपर प्लास्टर ऑफ़ पेरिस (POP) कि एक मोती परत चढाई जाती है। सूखने पर यह कठोर हो जाती है जिससे टूटी हुई हड्डी हिलती नहीं है। क्या POP में हुए इस परिवर्तन को उत्क्रमित कर सकते हैं ?
उत्तर – नहीं, क्योंकि प्लास्टर ऑफ़ पेरिस (POP) एक ऐसा पदार्थ है जो यदि एक बार सुख जाए तो यह कठोर हो जाती है, जिसे वापस पूर्व की अवस्था में नहीं लाया जाता है।

7. रात्रि में एक सीमेंट की बोरी जो कि खुले मैदान में रखी हुई थी, वर्षा के कारण भीग जाती है। अगले दिन धूप निकलती है। सीमेंट में जो परिवर्तन हो गया है क्या उसे उत्क्रमित कर सकते हैं ?
उत्तर – नहीं, क्यूंकि सीमेंट एक ऐसा पदार्थ है जो एक बार यदि भीग जाती है तो वह कुछ समय पश्चात् सुख कर कठोर पदार्थ में परिवर्तित हो जाती है। जिसे पुनः उत्क्रमित नहीं किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!